चेहरे पर बार-बार पिंपल्स होने के कारण बताइए।

शरीर की सुंदरता के साथ-साथ हमारा चेहरा साफ और सुंदर स्वच्छ बेदाग दिखना भी बहुत जरूरी है। ऐसे में अगर हमारे चेहरे पर दाग-धब्बे या पिंपल्स हैं, तो यह हमारे चेहरे पर बिल्कुल भी अच्छा नहीं दिखता है। चेहरे पर बार बार पिंपल्स होने के कारण बताइए। हमारे शरीर के रंग के बावजूद, यह आवश्यक नहीं है की हमारे शरीर का रंग कैसा है, लेकिन स्वच्छ, सुंदर, खूबसूरत चांद जैसा चेहरा किसी भी तरह, हर किसी को पसंद होता हैं। 

Give Reasons for having pimples on face.
(Give Reasons for Frequent Pimples on The Face)

यह हमारे शरीर के लिए आवश्यक और हमें सुंदर बनाने के लिए कार्य करता है। ओर हमारी खूबसूरती में चार चाँद लगाने का काम करता हैं। हमारा चेहरा हमारे शरीर के लिए एक दर्पण की तरह काम करता है, चेहरे पर पिंपल्स होने के कारण- जब भी हमारे शरीर में कोई समस्या होती है या हम बीमार होते हैं, तो यह हमारे चेहरे पर स्पष्ट रूप से दिखाई देता है। जैसे – दाग धब्बे, पिम्पल, आँखों के नीचे काले घेरे, उसी जगह पर मुंहासे होना, चेहरे पर दाना होना, पिंपल्स साफ़ होने के बाद वापस आना। यह इंगित करता है कि समस्या न केवल शरीर की बाहरी त्वचा पर है, बल्कि शरीर के अंदर भी है। इसलिए, पिंपल को जड़ से खत्म करने के लिए सिर्फ चेहरे पर कुछ लगाने से कुछ नहीं होगा, बल्कि आपको अपने गलत खान-पान भी बंद करना होगा। 


कुछ सवाल होते है कुछ लोगों के मन में जैसे –

  1. चेहरे पर कील मुहासे क्यों होते हैं?
  2. मुहांसे से छुटकारा?
  3. पिम्पल्स के दाग हटाने की क्रीम पिंपल्स के प्रकार?
  4. चेहरे से कील मुंहासे हटाने के उपाय?
  5. पिम्पल्स हटाने के तरीके?
  6. पिम्पल का समाधान?
  7. माथे पर पिम्पल होने के कारण?

 

चेहरे पर बार बार पिंपल्स होने के कारण बताइए। (Give Reasons for having pimples on face)

चेहरे पर बार-बार एक ही जगह पिंपल्स क्यों होते  हैं? (Whay are Pimples on the face Repeatedly in one place)

  • पिम्पल्स होने के कारण- (Due to Pimples)

    यह हमारी चेहरे की त्वचा में माइक्रो पोर्स के बंद होने के कारण होता है जिसके कारण पिंपल्स की समस्या बार-बार होती है। छिद्रों के बंद होने के कारण शरीर के अंदर से निकलने वाले प्रकृति तेल का पता नहीं चलता है और शरीर से बाहर निकल जाता है। यहाँ यह समझा जाना चाहिए कि फुंसियों के निकलने का केवल एक कारण है, लेकिन छिद्रों के बंद होने के कई कारण हो सकते हैं।

  • उदाहरण के लिए-

    चेहरे में कई प्रकार के रासायनिक सुरक्षा का उपयोग जैसे- कि चेहरे को बहुत शुष्क कर देता है, बहुत अधिक तैलीय त्वचा, पाचन तंत्र में खराब पाचन, या पेट को ठीक से साफ नहीं होना। कुछ लोगों के साथ समस्या यह है कि चेहरे में फुंसी हो जाती है एक ही जगह, उदाहरण के लिए…

  1. कुछ माथे पर।
  2. कुछ गाल पर।
  3. कुछ दाड़ी पर।
  • माथे पर फुंसी (Pimple on the forehead)

    माथे पर पिंपल्स हमारे पाचन तंत्र और मूत्राशय में समस्याओं के कारण होते हैं। इसलिए, पाचन तंत्र के लिए, हमें भोजन पर ध्यान देना होगा, जो ताजी हरी सब्जियां खाने में शामिल होना चाहिए, सिवाय आधी पकाई हुई चीजों के और आसानी से पचने वाले नहीं। अधिक पानी भी पीना चाहिए। माथे पर फुंसियों का एक और कारण है कि सिर में रासायनिक सुरक्षा का उपयोग करना, जैसे तेल, शैम्पू, जैल, स्प्रे, सिर पर लगाने के बावजूद, हमारे माथे (कपाल) तक आते हैं, जिससे छिद्र बंद हो जाते हैं। है। माथे का निचला हिस्सा (कपाल) यह हिस्सा हमारे मस्तिष्क, पाचन तंत्र, फेफड़ों से जुड़ा होता है।

  • माथे के निचले हिस्से में दाने  (Lower forehead rash)

    नींद, तनाव, का संकेत देते हैं, इसलिए रात को जल्दी सोना और 7-8 घंटे सोना जरूरी है, सुबह जल्दी उठने के लिए, आप चाहें तो योग कर सकते हैं।

  • सिर का तिलक वाला भाग (Tilak Head)

    इस भाग में होने वाले दाने पाचन तंत्र की गड़बड़ी के कारण होते हैं, इसलिए अधिक तेल, तली-भुनी चीजें खाते हैं, जिसमें पाचन तंत्र को पाचन में अधिक मेहनत करनी पड़ती है। इसके लिए हरी सब्जियों और फलफल के अपने आहार में अधिक ध्यान जोड़ा जाना चाहिए। नाक में  पिंपल इस हिस्से में होने से पता चलता है कि हृदय में कुछ समस्याएं हैं जैसे उच्च रक्त प्रवाह, तनाव, ऐसी स्थिति में अधिक धूम्रपान करना, अधिक शराब का सेवन करना और ऐसे भोजन का सेवन करना, बहुत अधिक तेल खाना, बहुत अधिक चीनी या नमक का सेवन करना। ऐसे में हमें अधिक मात्रा में पानी का सेवन करना चाहिए, ताजे फलों और सब्जियों को अपने आहार में शामिल करना चाहिए। ओमेगा -3 युक्त फ्लैक्स का भी सेवन करना चाहिए, जो शरीर में रक्त कोशिकाओं को बढ़ाने और रक्त में कमी को कम करने में मदद करेगा। रात में सोते समय चेहरा धोएं हां, धूल, गंदगी, तैलीय त्वचा के कारण चेहरे पर होने वाले प्रदूषण और रोम छिद्र बंद हो जाते हैं। इसलिए रात को सोने से पहले एक बार चेहरे को साफ पानी से जरुर धोना चाहिए।

  • चेहरे के गाल वाले हिस्से पर (On the cheekbone of the face)

    इस हिस्से में फुंसी हमारे शरीर के फेफड़ों और यकृत, पाचन में गड़बड़ी को दिखाती है। इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि फेफड़े और यकृत को प्रभावित करने वाली चीजों से बचना चाहिए, जैसे शराब, धूम्रपान, डेयरी उत्पाद, चीनी और तैलीय भोजन, और फेफड़ों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए, किसी को प्रदूषण वाले स्थानों पर जाने से बचना चाहिए, और धूल मिट्टी से बचने के लिए, प्रदूषण मास्क का उपयोग करना चाहिए।

  • मध्य गालों के नीचे और होंठों के ऊपरी हिस्से पर- (On the upper part of the lips below the middle cheeks)

    यहा पर होने वाले पिंपल्स से पता चलता है कि यह पिंपल जहरीले नशे जैसे सुपारी, गुटखा, तंबाकू से होता है, यह मुंह की गंदगी को बढ़ाता है, मुंह के शीर्ष पर होने वाले नशे के कारण होते हैं। इसके लिए। इसलिए मुंह की साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

Give Reasons for having pimples on face.
(Give Reasons for Frequent Pimples on The Face)

 

  • गालों के निचले हिस्से में पिंपल्स- (On the lower part of the cheeks)

    हमारे तकिए की वजह से होते हैं, क्योंकि जब हम सोते हैं, तो बालों में लगाए जाने वाले केमिकल ऑयल को सोते समय तकिए पर लगा दिया जाता है, ताकि अगर हम तकिया को ज्यादा दिनों तक न धोएं, तो बैक्टीरिया तकिया के माध्यम से हमारे मुंह पर लागू होते हैं। पिंपल भी होते हैं। इसलिए तकिए के कवर को हफ्ते में दो बार धोना चाहिए।

  • कान के भाग पर- (On the Ear)

    यहां फुंसी हमारे शरीर के गुर्दे में गड़बड़ी और रक्त में गन्दगी, बाहरी जंग खाने, पैकेज में उपलब्ध और शराब का सेवन कम से कम करना चाहिए, और हमें जितना संभव हो उतना साफ पानी पीना चाहिए। और कान के आस-पास फुंसी भी लंबे समय तक फोन पर बात करने के कारण होती है।

  • पिंपल का फूलना- (Flowering on Pimples)

    यह दाना दिखाता है कि मूत्राशय में गड़बड़ी है और जननांग हार्मोन जैसे कि टेस्टोस्टेरोन और लड़कियों में असंतुलन के कारण यह पीरियड्स के कारण हार्मोन के असंतुलन के कारण होता है। ऐसी स्थिति में हार्मोन को लक्षित करने वाली चीजों का कम से कम सेवन करना चाहिए। जैसे- चीनी और जंक फूड, और भोजन में दैनिक आहार में एंटीऑक्सिडेंट, प्रोबायोटिक्स, ताजे फल और सब्जियां शामिल होनी चाहिए। 

  1. दाढ़ी और होंठों के आस-पास पिंपल होना, यह दर्शाता है कि हमारी छोटी आंत और मूत्राशय में कोई समस्या है,  इसलिए हमें छोटी आंत में चिपक ने वाला खाना खाने से बचना चाहिए, (जैसे मेदा) और कब्ज का कारण बनता है, जैसे कि मैदा और तली हुई चीजें, इनसे दूर रहे। साथ ही, पाचन को बेहतर बनाने के लिए उच्च फाइबर युक्त चीजों को अपने आहार में शामिल करना चाहिए, जैसे कि ब्राउन राइस, मटर, ब्रोकोली, सेब, गाजर।
  2. पिंपल्स का बार-बार होना यह भी बताता है कि पिंपल नाखून से फटा हुआ है, जिससे पिंपल फट जाता है और अंदर भी फट जाता है, जिसमें बाहरी त्वचा पर बैक्टीरिया पिंपल में चले जाते हैं, और कई बार पिंपल पिंपल के आसपास होने लगते हैं। अब आप समझ गए होंगे कि अगर चेहरे पर पिंपल है तो उसका घरेलू उपचार कैसे करें।

Leave a Comment

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)