योग कैसे करें?

योग क्या है?

योग कैसे किया जाता हैं? यह समझ लेने पर, योग कैसे करैं? यह समझना आसान हो जाता है। “अधिकाँशत” वर्तमान में योग को, योगा शब्द से संज्ञा दी जा रही हैं। जीविकोपार्जन व कारोवारी तौर-तरीकों से धन अर्जित करने का व्यवसाय आज के समय योग को बनाया लिया गया है।

योग को आधुनिक जीवन के समरूप बनाने के लिए, इसमें ध्वनि, प्रकाश व व्यायाम यन्त्रों आदि साधनों का इस्तेमाल किया जा रहा हैं। इस वजह से योग ने काफी रोचक व आकर्षक स्वरूप आज आधुनिक जीवन में ले लिया है। एवं एक और पक्ष में योग व योग अभ्यास करने के तरीकों को लेकर, आज व्यक्ति में अनेक भ्राँतियाँ भी पनप गयीं हैं। और यह सत्य भी हैं।

पुनश्चय- योग सीखने उम्मीदवार व्यक्तियों हेतु यह बहुत ही आवश्यक हैं, कि वह किसी अनुभवी योग शिक्षक के निर्देशानुसार योग सीखना प्रारम्भ आप करैं।
योग के लिये यह करें-

(योग कैसे करें?)

जीवन शैली

  1. देश-काल-परिस्थिति के अनुरूप व अनुकूल, खान-पान, रहन-सहन की नियमित दिनचर्या हो गयी हैं।
  2. प्रकृति से निकटतम सम्पर्क-सम्बन्ध बनाना ही योग हैं।
  3. स्वयँ, परिवार, समाज के लोगों, देश-राष्ट्र, विश्व व प्रकृति के प्रति जिम्मेदारी व जबावदेहीपूर्ण सम्पर्क-सम्बंधों का निर्वहन। एवं शारीरिक व्यायाम-आसन-प्राणायाम।

यह भी पढ़ें-

ध्यान योग-

  1. रीड़ की हड्डी में लोच के लिए व्यायाम व योग अासन आवश्यक हैं।
  2. श्वसन तन्त्र सुदृढ करने के लिए योग आसन व प्राणायाम करना।
  3. पाचनतन्त्र की मजबूती हेतु योग करना।
  4. मलतन्त्र हेतु योग, व्यायाम, योग आसन, मुद्रा, व योग प्राणायाम करना।
  5. मन-बुद्धि की शुद्धि व संस्कार परिवर्तन हेतु योग करना।
  6. सुवह-शाम किसी भी समय जिस समय आप को उचित लगें। शरीर की प्रत्येक कोशिका को सक्रिय करने हेतु कर्मेन्द्रियों का व्यायाम करना।

यह भी पढ़ें-

सूक्ष्म योग-
मौन,ध्यान व चिन्तन-मनन-मन्थन ही सूक्ष्म योग हैं।

योग कैसे करें? तरीका-

किसी भी योग को करने के लिए पहले एक अच्छे वातावरण का चयन करना आवश्यक है। वातावरण में किसी भी प्रकार का शोर न हो। योग मुख्य रूप से सुबह ब्रम्हचर्य के समय करने से उपयुक्त होती है। यही योग की परिभाषा हैं।

Leave a Comment

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)